TDS क्या है? और इसे क्यों काटते हैं? 2022 की अनोखी जानकारी

TDS क्या है? और इसे क्यों काटते हैं? 2022 की अनोखी जानकारी

दोस्तों में से एक सवाल तो आपके मन में जरूर आता ही होगा आखिरकार यह TDS क्या होता है। लेकिन आपकी जानकारी के लिए हम आपको यहां पर बता दें कि यह सरकार के द्वारा लिया जाने वाला एक प्रकार का कर होता है। लेकिन हम आपको TDS के बारे में यही कहना चाहेंगे के यह बहुत ही लंबी प्रक्रिया होती है। अगर आप भी इसके बारे में जानना चाहते हैं। तो इस पोस्ट को आगे तक पढ़ते रहे हैं। आपको संपूर्ण जानकारी आगे चलकर मिल जाएगी।

ऐसे बहुत से लोग होते हैं।जिनके पास बैंक में बहुत सारा पैसा जमा रहता है। और ऐसे में वह कोई बिजनेस करें तो फिर कर्मचारियों के द्वारा उन्हें यह सूचना दी जाती है। कि आपको अब TDS देना पड़ेगा। क्योंकि जब आप बैंक में ज्यादा पैसा मंगवाते हो तो फिर लोगों का यही सवाल होता है। कि आखिरकार इस TDS का क्या लफड़ा है? तो इसी बात को सूचित हुए हम यह पोस्ट स्पेशल आपके लिए लेकर के आए हैं। जिसमें आपको बताया जाएगा के TDS क्या होता है? और इसे क्यों काटते हैं?

TDS क्या है? और इसे कब काटा जाता है?

जैसा कि साथियों आप सभी लोग जानते होंगे कि सरकार हम लोगों से टैक्स लेती है। और सरकार द्वारा हमसे दो प्रकार के टैक्स लिए जाते हैं। जिसमें सबसे पहला है। डायरेक्ट टैक्स और दूसरा इनडायरेक्ट टैक्स के रूप में लिया जाता है। और हिंदी में हमें ना प्रत्यक्ष एवं अप्रत्यक्ष टैक्स भी कह सकते हैं। और TDS की फुल फॉर्म Tax deducted at source होता है। तो इस प्रकार हम कहेंगे कि TDS सरकार के द्वारा लिया जाने वाला एक इनडायरेक्ट टैक्स होता है। जो कि कर चोरी को रोकने के लिए लिया जाता है। टीडीएस पैड टैक्स का ही एक रूप होता है। या फिर इसे एक एडवांस टैक्स भी कह सकते हैं।

TDS इनकम टैक्स डिपार्टमेंट के द्वारा जारी किया जाने वाला text deduct करने का एक ऐसा नियम होता है। जिसके द्वारा source से ही टैक्स को काट लेते हैं।और यह टेक्स उसी समय काटा जाता है। जो व्यक्ति की इनकम होती रहती है। इसी के साथ टीडीएस के कई प्रकार बनाए गए हैं। और यह समय-समय पर सरकार के पास जमा होता रहता है। और यह वित्तीय वर्ष के लास्ट में अपना आयकर रिटर्न दाखिल करने के बाद कुल राशि को टैक्स रिटर्न के रूप में वापस कर दिया जाता है।

TDS को क्यों काटा जाता है?

दोस्तों अब तक आप टीडीएस के बारे में तो जान चुके होंगे अब आपके मन में यह सवाल उठ रहा होगा आखिरकार इसे काटा क्यों आता है। तो हम आपको यहां पर बता दें कि इसे देश चलाने के लिए काटते हैं। और आप इस बात को तो जानते ही होंगे कि देश की संख्या लगभग सवा सौ करोड़ के आसपास में पहुंच चुकी है। तो सरकार द्वारा जो भी सुविधाएं लोगों को दी जाती हैं। उनके लिए पैसों की जरूरत पड़ती है। इसी वजह से सरकार TDS के रूप में धन इकट्ठा करती रहती है।सरकार के पास जो भी टीडीएस यानी कि जमा रहता है। वह लोगों को सुविधाओं के रूप में प्रदान कर देती है।

TDS का ऑनलाइन भुगतान कैसे करें ?

दोस्तों टीडीएस का ऑनलाइन भुगतान करने के लिए आपको हमने नीचे निम्न प्रकार के तरीके बताए हैं। जिन्हें फॉलो करने से आप लोग टीडीएस का भुगतान कर सकते हो।

Step 1 : अगर आप लोग टीडीएस का ऑनलाइन भुगतान करना चाहते हैं। तो उसके लिए सबसे पहले आपको इसकी आधिकारिक वेबसाइट पर जाना पड़ता है। वहां पर जाने के बाद में आपको TDS अनुभाग में चालान संख्या के ऑप्शन पर क्लिक करना पड़ेगा और वह आपको सीधा पेमेंट के पेज पर पहुंचा देता है।

Step 2 : अगर आप किसी कंपनी का भुगतान कर रहे हैं। तो आप टैक्स एप्लीकेबल में अपनी डिडक्टीस को चुन लें और यदि आपके द्वारा किसी कंपनी के साथ ही किसी व्यक्ति का भी भुगतान किया जा रहा है। तो इसके लिए आपको non company डिडक्टीस का ऑप्शन चलना पड़ता है।

Step 3 : अब आपको अपनी भुगतान की प्रकृति को ड्रॉपडाउन सूची से चुनना पड़ता है। इसके बाद आप कौन से तरीके से भुगतान करना चाहती हैं। यह आप को चुनना पड़ता है। और जो आप TAN एंटर करने के बाद उस साल को चुनना पड़ता है। जिसका आप लोग भुगतान करना चाहते हैं।

Step 4 : इसके बाद आपको अपना address with pin code डालना पड़ता है। इसी के साथ आपको अपना मोबाइल नंबर भी यहां एंटर करना पड़ता है। इसके बाद आपको जो भी नीचे कैप्चा कोड दिया होता है। उसे डालने के बाद आपको नेक्स्ट के बटन पर क्लिक करना पड़ता है।

Button text

Step 5 : इसके बाद आपको डेक्सटॉप पर एक स्क्रीन दिखाई देती है। इसकी पुष्टि करने के लिए आपको इसे सबमिट करना पड़ता है। और आपने जो TAN एंटर की है। अगर वह वेद होती है। तो पूरी स्क्रीन पर निर्धारित का नाम प्रदूषित किया जाता है। जब आप इन सब की पुष्टि कर लेते हो तो फिर आपको यह वेबसाइट नेट बैंकिंग की साइट पर पहुंचा देती है।

Step 6: इसके बाद इस वेबसाइट के अंदर आपको यूजर आईडी एवं पासवर्ड की सहायता से बैंक खाते में लॉग इन करना पड़ता है। और भुगतान भी करना होता है। और जब टैक्स का भुगतान पूरा हो जाता है। तो आपकी डेस्कटॉप स्क्रीन पर कुछ डिटेल्स बताई जाती हैं। जिसमें आपकी बैंक का नाम आदि प्रकार की जानकारी स्टोर रहती है। आप चाहो तो इसे सेव करके भी रख सकते हो क्योंकि इसे भुगतान का प्रमाण माना जाता है।

अंतिम शब्द

दोस्तों आज की पोस्ट में हमने आपको TDS क्या है? और इसे क्यों काटा जाता है, से संबंधित सभी प्रकार की जानकारी देने की पूरी पूरी कोशिश की है। और हम आशा करते हैं कि हमारे द्वारा दी जाने वाली जानकारी आपके लिए आगे चलकर काफी ज्यादा यूज़फुल एवं काम दायक साबित हो सकती है। अगर आपको हमारा ही है। आर्टिकल पसंद आया हो तो इसे सोशल मीडिया पर जरूर शेयर करें धन्यवाद।

Leave a Comment